Pragit Aur Samaj Objective

गद्य-9 | प्रगीत और समाज Objective Q & A – नामवर सिंह | कक्षा-12 वीं | हिन्दी 100 मार्क्स

विवरण

Pragit Aur Samaj Objective

आधारित पैटर्नबिहार बोर्ड, पटना
कक्षा12 वीं
संकायकला (I.A.), वाणिज्य (I.Com) & विज्ञान (I.Sc)
विषयहिन्दी (100 Marks)
किताबदिगंत भाग 2
प्रकारObjective Question & Answer
कुल वस्तुनिष्ट प्रश्न 61 Questions
अध्यायगद्य-9 | प्रगीत और समाज – नामवर सिंह
कीमतनि: शुल्क
लिखने का माध्यमहिन्दी
उपलब्धNRB HINDI ऐप पर उपलब्ध
श्रेय (साभार)रीतिका
गद्य-9 | प्रगीत और समाज Objective Q & A – नामवर सिंह | कक्षा-12 वीं | हिन्दी 100 मार्क्स

1. प्रगीत और समाज के लेखक कौन है?

(A) उदय प्रकाश

(B) मोहन राकेश

(C) नामवर सिंह

(D) जे॰ कृष्णमूर्ति | Ans-(C)

2. नामवर सिंह का जन्म कब हुआ था?

(A) 28 जुलाई, 1927

(B) 24 जुलाई, 1927

(C) 28 जून, 1927

(D) 24 जून, 1927 | Ans-(A)

3. नामवर सिंह का जन्म स्थान कहाँ है?

(A) वृंदावन

(B) वाराणसी

(C) सारण

(D) पटना | Ans-(B)

4. नामवर सिंह के माता का नाम क्या था?

(A) फूलरानी देवी

(B) मनरूप देवी

(C) वागेश्वरी देवी

(D) विद्यावती देवी | Ans-(C)

5. नामवर सिंह के पिता का नाम क्या था?

(A) त्रिलोकी नाथ वर्मा

(B) प्रेम कुमार सिंह

(C) नारायण जिद्दू

(D) नगर सिंह | Ans-(D)

6. नामवर सिंह ने पी० एच० डी० किस विषय पर की थी?

(A) पृथ्वीराजरासो की भाषा

(B) हिंदी

(C) इतिहास

(D) अंग्रेजी | Ans-(D)

7. नामवर सिंह ने पी० एच० डी० कब और कहाँ से की थी?

(A) 1956, सागर विश्वविद्यालय से

(B) 1956 में, बीएचयू से

(C) 1956 में, पटना यूनिवर्सिटी से

(D) 1956 में, इलाहाबाद विश्वविद्यालय से | Ans-(B)

8. नामवर सिंह जी को साहित्य अकादमी पुरस्कार कब मिला था?

(A) 1969

(B) 1970

(C) 1971

(D) 1972 | Ans-(C)

9. नामवर सिंह जी को किस कृति के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार मिला था?

(A) दूसरी परंपरा की खोज

(B) आलोचना के मुँह से

(C) इतिहास और आलोचना

(D) कविता के नए प्रतिमान | Ans-(D)

10. नामवर सिंह को आलोचनात्मक दृष्टि की आधारभूत विशेषता क्या है?

(A) ह्रदय और बुद्धि का आलोचनात्मक तनाव भरा द्वंद्वात्मक संतुलन

(B) कविता और राजनीति का आलोचनात्मक तनाव भर द्वंद्वात्मक संतुलन

(C) उपर्युक्त दोनों

(D) दोनों में से कोई नहीं | Ans-(A)

Pragit Aur Samaj Objective

11. नामवर सिंह का अध्ययन कैसा है?

(A) विस्तृत और निम्म

(B) विस्तृत और गहन

(C) जागरूकता फैलाने वाला

(D) साधारण | Ans-(A)

12. नामवर सिंह पेशे से क्या रहे हैं?

(A) अंग्रेजी शिक्षक

(B) हिंदी शिक्षक

(C) हिंदी प्राध्यापक

(D) अंग्रेजी प्राध्यापक | Ans-(C)

13. कौन देश के शीर्षस्थ हिंदी प्रोफेसर के रूप में प्रतिष्ठा अर्जित कर चुके हैं?

(A) नामवर सिंह

(B) चंद्रधर शर्मा गुलेरी

(C) उदय प्रकाश

(D) जे० कृष्णमूर्ति | Ans-(A)

14. साहित्य के छात्र और आलोचक के रूप में नामवर सिंह किसके शिष्य रह चुके हैं?

(A) मुक्तिबोध के

(B) आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी के

(C) तुलसीदास के

(D) आचार्य रामचंद्र शुक्ल | Ans-(B)

15. कौन रविंद्रनाथ के संसर्ग में विश्वभारती में हिंदी के आचार्य रह चुके हैं?

(A) नागार्जुन

(B) त्रिलोचन जी

(C) द्विवेदी जी

(D) उपर्युक्त कोई नहीं | Ans-(C)

16. किस पर समाज का दबाव तीव्रता से महसूस किया जा रहा है?

(A) महिलाओं

(B) छात्र-छात्राओं

(C) कहानी

(D) कविता | Ans-(D)

17. समाजशास्त्रीय विश्लेषण अथवा सामाजिक व्याख्या के लिए सबसे कठिन चुनौती किन कविताओं की ओर मिलती है?

(A) प्रगीतधर्मी

(B) मुक्तिबोध

(C) प्रधानकाव्य

(D) उपर्युक्त सभी | Ans-(A)

18. प्रगीतधर्मी कविताएँ सामान्य समझ के अनुसार किसकी अभिव्यक्ति मात्र है?

(A) मुक्तिबोध कविताओं की

(B) नितांत व्यक्तित्व और आत्मपरक अनुभूतियों की

(C) अपनी सामाजिक अर्थवता से

(D) आत्मपरकथा अथवा भावमयता | Ans-(B)

19. आचार्य रामचंद्र शुल्क के काव्य सिद्धांत के आदर्श क्या थे?

(A) एकांतकाव्य

(B) प्रगीतकाव्य

(C) मुक्तकाव्य

(D) प्रबंधकाव्य | Ans-(D)

20. किसमें मानव जीवन का एक पूर्ण दृश्य होता है?

(A) प्रबंध काव्य

(B) प्रगीत काव्य

(C) मुक्त काव्य

(D) उपर्युक्त सभी | Ans-(A)

Pragit Aur Samaj Objective

21. कौन गीतिकाव्य है?

(A) प्रगीत मुक्तको (लिरिक्स)

(B) आधुनिक कविताएँ

(C) सूरसागर

(D) आत्मपरक प्रगीत | Ans-(C)

22. आचार्य रामचंद्र शुल्क को किससे शिकायत रहती थी?

(A) मुक्तिबोध कविताओं से

(B) आधुनिक कविताओं से

(C) लिरिक्स से

(D) प्रबंध काव्य से | Ans-(B)

23. यूरोप में कैसी कविताओं का चलन अधिक था?

(A) प्रगीत मुक्तको (लिरिक्स)

(B) मुक्तिबोध

(C) प्रबंध काव्य

(D) उपर्युक्त सभी | Ans-(A)

24. लोगों को कैसी कविताएँ पढ़ने की फुर्सत नहीं मिल रही थी?

(A) विस्तृत और गहन

(B) लंबी और छोटी दोनों

(C) छोटी और इतिवृत्त

(D) लंबी और इतिवृत्त | Ans-(D)

25. “राम की शक्तिपूजा” तथा “तुलसीदास” किसकी रचना है?

(A) निराला जी

(B) त्रिलोचन जी

(C) नारायण जी

(D) हजारी प्रसाद द्विवेदी | Ans-(A)

26. प्रगीत और समाज पाठ में प्रसाद जी की किन कृतियों के बारे में बताया गया है?

(A) शमशेर सिंह का शस्त्र समर्पण

(B) पेशोला की प्रतिध्वनि

(C) प्रलय की छाया और कामायनी

(D) उपर्युक्त सभी | Ans-(D)

27. एक व्यापक काव्य सिद्धांत की स्थापना के लिए किसकी आवश्यकता थी?

(A) मुक्तिबोध की कविताओं की

(B) प्रगीतधर्मी कविताओं की

(C) इतिवृत्त कविताओं की

(D) लंबी और छोटी कविताओं की | Ans-(A)

28. प्रगीतधर्मी छोटी कविताएँ किन कारणों से काव्य सिद्धांत को व्यापक बनाने में समर्थ है?

(A) अपने काव्य भाव से

(B) अपनी सामाजिक अर्थवता से

(C) उपर्युक्त दोनों

(D) दोनों में से कोई नहीं | Ans-(B)

29. मुक्तिबोध में किस प्रकार की कविताएँ होती हैं?

(A) छोटी कविताएँ

(B) लंबी कविताएँ

(C) लंबी और छोटी दोनों

(D) उपर्युक्त में से कोई नहीं | Ans-(C)

30. मुक्तिबोध का समूचा काव्य मुलत: कैसा है?

(A) प्रगीतधर्मी–तीव्रतम रूप में

(B) भावमयता–तीव्रतम रूप में

(C) मुक्तिबोध–तीव्रतम रूप में

(D) आत्मपरक है–तीव्रतम रूप में | Ans-(D)

Pragit Aur Samaj Objective

31. मुक्तिबोध की शक्ति क्या है?

(A) आत्मपरकता अथवा भावमयता

(B) आत्मपरकता अथवा सामाजिकता

(C) भावमयता अथवा सामाजिकता

(D) आधुनिक सोच | Ans-(A)

32. आत्मपरकता अथवा भावमयता मुक्तिबोध कविताओं को क्या प्रदान करती है?

(A) गति

(B) ऊर्जा

(C) दोनों

(D) कोई नहीं | Ans-(C)

33. मुक्तिबोध कविताओं की गति और ऊर्जा का मूल स्रोत क्या है?

(A) काव्य के प्रगीत नायक का व्यक्तित्व

(B) आत्मपरकता अथवा भावमयता

(C) उपर्युक्त दोनों

(D) इनमें से कोई नहीं | Ans-(A)

34. कौन नाट्यधर्मी लंबी कविताओं के सदृश ही यथार्थ को प्रतिध्वनित करता है?

(A) मुक्तिबोध

(B) प्रबंधकाव्य

(C) आत्मपरक प्रगीत

(D) समाजिक प्रगीत | Ans-(C)

35. किस कविता में वस्तुगत यथार्थ अपनी चरम आत्मपरकता के रूप में ही व्यक्त होता है?

(A) समाजधर्मी

(B) प्रबंधकाव्य

(C) मुक्तिबोध

(D) प्रगीतधर्मी | Ans-(D)

36. त्रिलोचन जी ज्यादातर कैसी कविताओं को लिखे हैं?

(A) वर्णनात्मक

(B) सॉनेट और गीत

(C) समाजिक

(D) रोमांटिक | Ans-(B)

37. जीवन, जगत और प्रकृति के रंग-बिरंगे चित्र किसके काव्य संसार में मिलते हैं?

(A) त्रिलोचन जी के

(B) हजारी प्रसाद द्विवेदी के

(C) नामवर सिंह के

(D) आचार्य रामचंद्र शुक्ल के | Ans-(A)

38. “उस जनपद का कवि हूँ” यह किसकी रचना है?

(A) त्रिलोचन जी की

(B) हजारी प्रसाद द्विवेदी की

(C) नामवर सिंह की

(D) आचार्य रामचंद्र शुक्ल की | Ans-(A)

39. “तन गई रीड” किसकी कविता है?

(A) त्रिलोचन जी

(B) हजारी प्रसाद द्विवेदी

(C) नागार्जुन

(D) नामवर सिंह | Ans-(C)

40. गीतों ने किसको बदलने में क्रांतिकारी भूमिका अदा की है?

(A) व्यक्तियों की सोच

(B) व्यक्तित्व

(C) समाज

(D) जनमानस | Ans-(D)

Pragit Aur Samaj Objective

41. “विनय पत्रिका” के पद एक व्यक्ति का …….. मात्र नहीं है।

(A) चरित्र

(B) विनय

(C) अरण्य रोदन

(D) उपर्युक्त सभी | Ans-(C)

42. “रामचरित्रमानस” तथा “विनय पत्रिका” किसकी रचना है?

(A) तुलसीदास

(B) वाल्मीकि

(C) वेदव्यास

(D) उपर्युक्त में से कोई नहीं | Ans-(A)

43. विनय के पदों में क्या व्यक्त हूई है?

(A) अरण्य रोदन

(B) पूरे युग की वेदना

(C) प्रार्थना

(D) उपर्युक्त सभी | Ans-(B)

44. किसके धमाके से मध्ययुगीन भारतीय समाज की रूढ़ि – जर्जर दीवारें हिल उठी?

(A) मुक्तिबोध

(B) सामाजिक प्रगीत

(C) रोमांटिक प्रगीत

(D) नई प्रगीतात्मकता | Ans-(D)

45. प्रगीतत्मकता का दूसरा उन्मेष कब हुआ?

(A) 19 वीं सदी

(B) 18 वीं सदी

(C) 20 वीं सदी

(D) 19 वीं और 20 वीं सदी | Ans-(C)

46. प्रगीतात्मकता का दूसरा उन्मेष बीसवीं सदी में किस उत्थान के साथ हुआ?

(A) सामाजिक

(B) रोमांटिक

(C) व्यवहारिक

(D) उपर्युक्त सभी | Ans-(B)

47. काव्यरूप में सीधे-सीधे राष्ट्रीयता संबंधी विचारों तथा भावो को किसने लिखा?

(A) मैथिलीशरण गुप्त

(B) हजारी प्रसाद द्विवेदी

(C) नामवर सिंह

(D) शमशेर सिंह | Ans-(A)

48. किसकी असामाजिकता में ही सच्ची सामाजिकता थी?

(A) प्रबंधकाव्य में

(B) प्राकृतिक प्रगीत में

(C) रोमांटिक प्रगीत में

(D) समाजिक प्रगीत में | Ans-(C)

49. आलोचकों की दृष्टि में सच्चे अर्थों में प्रगीतात्मकता का आरंभ का आधार क्या है?

(A) अहिंसा

(B) प्रबंधात्मक काव्य

(C) प्रेम व्यवहार

(D) समाज के विरुद्धी व्यक्ति | Ans-(D)

50. मैथिलीशरण गुप्त ने कैसे काव्य लिखे हैं?

(A) प्रबंधात्मक काव्य

(B) प्राकृतिक काव्य

(C) सामाजिक काव्य

(D) रोमांटिक काव्य | Ans-(A)

Pragit Aur Samaj Objective

51. प्रगीतात्मकता का अर्थ क्या है?

(A) एकांत संगीत

(B) अकेले कंठ की पुकार

(C) उपर्युक्त दोनों

(D) दोनों में से कोई नहीं | Ans-(C)

52. “लेकर सीधा नारा कौन पुकारा” किसकी कविता है?

(A) शमशेर जी

(B) मैथिलीशरण गुप्त

(C) नागार्जुन

(D) त्रिलोचन जी | Ans-(A)

53. “लेकर सीधा नारा” कविता कब लिखी गई थी?

(A) 1942

(B) 1941

(C) 1943

(D) 1945 | Ans-(B)

54. लेखक को शमशेर जी के मुख से कविता सुनने का सौभाग्य कहाँ प्राप्त हुआ?

(A) उत्तर प्रदेश

(B) बनारस में

(C) काशी में

(D) बिहार में | Ans-(C)

55. “कविता जो कुछ कह रही है उसे सिर्फ वही समझ सकता है जो इसके एकाकीपन में मानवता की आवाज सुन सकता है” यह किसके वाक्य के भाव है?

(A) त्रिलोचन जी

(B) शमशेर जी

(C) थियोडोर एडोनों

(D) नागार्जुन | Ans-(C)

56. प्रगतिवाद ने सांसत की स्थिति से उबरने का कौन-सा उपाय सुझाया था?

(A) अपने विचारों को जनता के सामने प्रकट करना

(B) बाहरी वातावरण को छोड़कर स्वयं को अंदर में समेट लेना

(C) स्वयं को दुविधा से निकालकर जनता के पास जाना

(D) अंदर से एकदम बाहर निकलकर जनता के पास जाना | Ans-(D)

57. यदि वह संवेदनशील हुआ तो अनुभव किया कि— “बाहर बाहर जाते जाते। अब अपना मन खाली है।” यह किसके शब्द है?

(A) रघुवीर सहाय

(B) तुलसीदास

(C) मैथिलीशरण गुप्त

(D) त्रिलोचन जी | Ans-(A)

58. किसमें आतिकथन से अधिक शक्ति होती है?

(A) सत्यकथन में

(B) मितकथन में

(C) प्रगीतकथन में

(D) रोमांटिक कथन में | Ans-(B)

59. ठंडे श्वर की तासीर भी कभी-कभी काफी …….. होती है?

(A) सहज

(B) सामान्य

(C) ठंडी

(D) गरम | Ans-(D)

60. उसका हाथ किसकी कविता है?

(A) त्रिलोचन जी

(B) तुलसीदास

(C) रघुवीर सहाय

(D) केदारनाथ सिंह | Ans-(D)

61. “बाज की दाढ़ में, आदमी का खून लग चुका है? यह किसके कविताओं की पंक्तियाँ है?

(A) शरद विल्लौरे

(B) नागार्जुन

(C) त्रिलोचन

(D) थेयोडोर एडोनों | Ans-(A)

Pragit Aur Samaj Objective


Quick Link

Chapter Pdf
यह अभी उपलब्ध नहीं है लेकिन जल्द ही इसे publish किया जाएगा । बीच-बीच में वेबसाइट चेक करते रहें।
मुफ़्त
Online Test
यह अभी उपलब्ध नहीं है लेकिन जल्द ही इसे publish किया जाएगा । बीच-बीच में वेबसाइट चेक करते रहें।
मुफ़्त

हिन्दी 100 मार्क्स सारांश

You may like this

Tirichh Saransh

गद्य-12 | तिरिछ (सारांश) – उदय प्रकाश | कक्षा-12 वीं | हिन्दी 100 मार्क्स

उदय प्रकाश द्वारा लिखा गया तिरिछ प्रसिद्ध कहानी एक उत्तर आधुनिक त्रासदी है। यह कहानी नई पीढ़ी के बेटे के दृष्टिकोण से बाबूजी के बारे …
Continue Reading…
tumul kolahal kalh me arth

पद्य-6 | तुमुल कोलाहल कलह में भावार्थ (सारांश) – जयशंकर प्रसाद | कक्षा-12 वीं | हिन्दी 100 मार्क्स

जयशंकर प्रसाद द्वारा रचित कविता “तुमुल कोलाहल कलह में” महाकाव्य “कामायनी” का अंश है। इसमें जो नायक और नायिका है। वह हमारी भावनाओं और को …
Continue Reading…
Ek Lekh Aur Ek Patra Saransh

गद्य-6 | एक लेख और एक पत्र (सारांश) – भगत सिंह | कक्षा-12 वीं | हिन्दी 100 मार्क्स

“एक लेख और एक पत्र” में “भगत सिंह” द्वारा लिखा गया है। इस पाठ में “भगत सिंह” द्वारा लिखा गया लेख “विद्यार्थी और राजनीति” तथा …
Continue Reading…
adhinayak bhavarth (saransh)

पद्य-10 | अधिनायक भावार्थ (सारांश) – रघुवीर सहाय | कक्षा-12 वीं | हिन्दी 100 मार्क्स

अधिनायक कविता रघुवीर सहाय के संग्रह आत्महत्या के विरुद्ध से ली गई है। यह एक व्यंग्यात्मक कविता है। जिसमें कवि कहते हैं की, राष्ट्रगात में …
Continue Reading…
Ganw ka ghar Subjective Question

पद्य-13 | गाँव का घर (प्रश्न-उत्तर) – ज्ञानेंद्रपति | कक्षा-12 वीं | हिन्दी 100 मार्क्स

गाँव का घर का प्रश्न-उत्तर पढ़ने के लिए ऊपर क्लिक करें। Q1. कवि की स्मृति में ‘घर का चौखट’ इतना जीवित क्यों है ? उत्तर- कवि की स्मृति …
Continue Reading…
Kavitt Subjective Question

पद्य-5 | कवित्त (प्रश्न-उत्तर) – भूषण | कक्षा-12 वीं | हिन्दी 100 मार्क्स

कवित्त का प्रश्न-उत्तर पढ़ने के लिए ऊपर क्लिक करें। Q1. शिवा जी की तुलना भूषण ने किन किन से की है ? उत्तर- शिवा जी की तुलना भूषण जी ने इंद्र, बाड़व (समुन्द्र की आग), भगवान राम, वायु, शिवाजी, परशुराम, दावा (जंगल की आग), चीता, शेर और कृष्ण से की है।
Continue Reading…

Leave a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!